भाजपा विधायक का अजीब दावा – ‘ईंधन की कीमतों में वृद्धि के लिए तालिबान संकट जिम्मेदार’

कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी के विधायक अरविंद बेलाड ने शनिवार को दावा किया कि कच्चे तेल की आपूर्ति में गिरावट के लिए तालिबान संकट जिम्मेदार था, जिसके परिणामस्वरूप ईंधन की कीमतों में वृद्धि हुई।

बता दें कि जुलाई में कई शहरों में पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर के स्तर को पार कर गई थी। दरअसल, तेल कंपनियों ने 4 मई से ईंधन की कीमतों में 41 बार वृद्धि की थी। 17 जुलाई को रिकॉर्ड तोड़ने के बाद, कीमतों में मामूली गिरावट आई है।

हालांकि रविवार को मुंबई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 107.39 रुपये थी, जबकि डीजल की कीमत 96.33 रुपये प्रति लीटर थी। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 101.34 रुपये प्रति लीटर थी, जबकि एक लीटर डीजल की कीमत 88.77 रुपये थी।

बेलाड ने दावा किया, “अफगानिस्तान में तालिबान संकट के कारण कच्चे तेल की आपूर्ति में गिरावट आई है।” “नतीजतन, एलपीजी, पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं। मूल्य वृद्धि के कारणों को समझने के लिए मतदाता पर्याप्त रूप से परिपक्व हैं।”

रॉयटर्स के अनुसार, भारत दुनिया में कच्चे तेल का तीसरा सबसे बड़ा आयातक है। देश सऊदी अरब, संयुक्त राज्य अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, नाइजीरिया और कनाडा से कच्चा तेल आयात करता हैं। अफगानिस्तान उन देशों की सूची में शामिल नहीं है जो भारत को कच्चे तेल का निर्यात करे।

15 अगस्त को तालिबान के नियंत्रण में आने के बाद से अफगानिस्तान वर्तमान में सरकार बनाने के बीच में है। वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों को प्रभावित करने की इसकी क्षमता अप्रमाणित है।  यह पहली बार नहीं है जब ईंधन की बढ़ती कीमतों के बारे में पूछे जाने पर भाजपा के किसी नेता ने तालिबान को जिम्मेदार बताया है।

19 अगस्त को, मध्य प्रदेश के भाजपा नेता रामरतन पायल ने एक पत्रकार से कहा कि “तालिबान के पास जाओ” क्योंकि अफगानिस्तान में ईंधन 50 रुपये में उपलब्ध था। उन्होने कहा, “तालिबान के पास जाओ। अफगानिस्तान में पेट्रोल 50 रुपये [प्रति लीटर] है, लेकिन इसका इस्तेमाल करने वाला कोई नहीं है।”

बीजेपी नेता ने कहा, “कम से कम भारत में सुरक्षा तो है। कोविड-19 की तीसरी लहर हम पर दस्तक देने वाली है। देश मुश्किल दौर से गुजर रहा है और आप पेट्रोल की कीमतों की बात कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *