सुरेश चव्हाणके ने हल्दीराम के पैकेट पर उर्दू के इस्तेमाल पर मचाया बवाल, पतंजलि पर खामोशी

बीते मंगलवार की रात को पत्रकार पुनीत कुमार सिंह ने एक वीडियो ट्वीट किया। ये वीडियो सुदर्शन न्यूज़ के एक कार्यक्रम का था। जिसमे सुदर्शन चैनल से जुड़ी एक महिला हल्दीराम की नमकीन का पैकेट हाथ में लेकर लहराते हुए स्टोर में मौजूद एक कर्मचारी से पैकेट पर उर्दू के इस्तेमाल पर बहस करते हुए देखी जा सकती है।

इस वीडियो में एक पुलिसकर्मी भी दिखाई देता है लेकिन वह सिर्फ मुकदर्शक बना रहता है। महिला स्टाफ से बदतमीजी भी करती है। आखिरकार स्टाफ उस महिला को स्टाफ से जाने के लिए कह देती है। इस दौरान वह स्टोर की  कर्मचारी से बार-बार पूछती है कि इसमें उर्दू में क्यों लिखा है। जिस पर महिला कर्मचारी कहती है कि अब आपको उसी भाषा को क्यों पड़ना है जो आपको नहीं आती है

इस वायरल वीडियो को 10 लाख से ज्यादा लोग देख चुके है। वहीं इससे ठीक एक दिन पहले 4 अप्रैल की शाम को सुदर्शन न्यूज़ का एडिटर-इन-चीफ सुरेश चव्हाणके का एक वीडियो सामने आया था। जिसमे वह हल्दीराम के नमकीन के पैकेट लिखी भाषा पर आपत्ति जताता हैं। वह कहता है कि जब हल्दीराम ने अपने बाकी नमकीनों पर उर्दू भाषा में कुछ नहीं लिखा है तो फलाहार मिक्चर पर उर्दू भाषा क्यों लिखी है।

इस पूरे विवाद के सामने आने के बाद हल्दीराम सोशल मीडिया पर ये हॉट टॉपिक बना गया है। इसके साथ ही अब यूजर ने रामदेव की पतंजलि के उत्पादों पर भी सवाल उठाया। दरअसल उस पर भी अरबी भाषा में लिखा था। अब यूजर सवाल कर रहे है कि चव्हाणके पतंजलि के खिलाफ भी इस तरह से ही आवाज उठाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *