राज्य का बजट संतुलित और जनहितैषी, मुख्यमंत्री का आभार – मुफ़्ती ख़ालिद मिस्बाही

जयपुर। राज्य के एक मात्र और सबसे बड़े मुस्लिम उलेमा के संगठन तहरीक उलेमा ए हिन्द ने राजस्थान के बजट पर संतोष व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रशंसा की है। यहाँ जारी एक बयान में तहरीक उलेमा ए हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुफ़्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने कहाकि राजस्थान का बजट जनहितैषी है और यह जनता के व्यापक लाभ में है। उन्होंने कहाकि राज्य के किसानों, जनता, आम नागरिक, विद्यार्थी, व्यापारी, गृहिणियों और राजकीय कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रख कर बजट बनाया गया है जो बहुत ही अच्छा है।

मुफ़्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने कहाकि बजट के अलग कृषि बजट पेश करके मुख्यमंत्री ने पूरे देश के सामने एक मिसाल कायम की है। यह बहुत अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि अब राज्य में 100 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली मुफ्त दी जाएगी। इसके अलावा बजट में यह भी प्रस्ताव दिया गया है कि राज्य के सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक 3 रुपए प्रति यूनिट और 150 से 300 यूनिट तक के 2 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली दी जाएगी। अब 300 यूनिट से अधिक बिजली इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं को स्लैब के हिसाब से छूट दी जाएगी। यह घोषणा किसानों के साथ साथ आम जनता के हित में है। बिजली का उत्पादन बढ़ाने के लिए कई संयंत्र लगाने के साथ ही साथ बाक़ी 17 ज़िलों में किसानों को दिन में बिजली देकर वह किसानों के हितैषी साबित हो रहे हैं। मिस्बाही ने कहाकि ईस्टर्न कैनाल का बजट बढ़ाने और इसका काम अपने हाथ में लेकर राजस्थान सरकार ने अच्छी पहल की है।

मुफ़्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने कहाकि पुरानी पेंशन योजना लागू कर मुख्यमंत्री ने राज्य के लोक कल्याणकारी व्यवस्था को पुनर्स्थापित किया है। यह बहुत अच्छा क़दम है। मुफ़्ती ख़ालिद ने कहाकि चिरंजीवी योजना में कवरेज को 10 लाख रुपए करने, 18 नर्सिंग कॉलेज खोलने, एसएमएस अस्पताल में 5 नए विभाग खोलने औ अजमेर, कोटा. जोधपुर में नए मेडिकल इंस्टिट्यूट खोलने का इरादा मुख्यमंत्री के लोककल्याणकारी योजनाओं का ही हिस्सा है। इंदिरा गांधी शहरी योजना खोलने और जयपुर मेट्रो का विस्तार राज्य के विकास को गति देगा।

शिक्षा में व्यापक घोषणाओं पर मुफ्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने हर्ष व्यक्त किया। उन्होंने कहाकि दिल्ली में पढ़ाने करने वाले बच्चों को कोचिंग और हॉस्टल की सुविधा देने, शहरी और ग्रामीण इलाकों में एक-एक हजार महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल और खोलने की घोषणा और अंग्रेजी माध्यम शिक्षकों का अलग कैडर बनाने के लिए 10 हजार भर्तियां करने की योजना राज्य के विद्यार्थियों के हक में है। प्रदेश के सभी 3,820 माध्यमिक स्कूलों को उच्च माध्यमिक स्तर पर क्रमोन्नत करने, ग्राम पंचायतों में प्राथमिक स्कूल नहीं हैं वहां भी स्कूल खोलने और रेगिस्तानी इलाकों की ढाणियों में 200 स्कूल खोले जाने के बात कहकर मुख्यमंत्री ने जनहितैषी कार्य किया है।

इसके अलावा जयपुर के जवाहरलाल नेहरू मार्ग स्थित संस्थानों को मिलाकर एजुकेशन हब बनाना, राज्य में उच्च शिक्षा के लिए 19 जिलों में 36 कन्या महाविद्यालय खोलने की घोषणा, 25 गर्ल्स कॉलेज में पीजी संकाय खोलने और जोधपुर स्थित मौलाना आजाद विश्वविद्यालय में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना की घोषणा का राज्य की जनता को लाभ मिलेगा। जयपुर में 100 करोड़ रुपये की लागत से इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने से भी राज्य के बीटेक विद्यार्थियों को बहुत लाभ मिलेगा। मुफ्ती खालिद अय्यूब मिस्बाही ने अल्पसंख्यक बजट पर भी प्रसन्नता व्यक्त की और इसे संतुष्टिपूर्ण बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *