हिंदुत्ववादियों की धम’कियों से मजबूर होकर सब्यसाची ने वापस लिया मंगलसूत्र का विज्ञापन

डिजाइनर सब्यसाची मुखर्जी ने आखिरकार हिंदुत्ववादियों की धम’कियों से मजबूर होकर मंगलसूत्र का विज्ञापन वापस ले लिया। साथ ही उन्होने अपने इंस्टाग्राम पेज से भी इससे जुड़ी सभी संबंधित तस्वीरें भी हटा ली। इस मामले में हिन्दुत्ववादियों ने उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर ट्रेंड चलाया था।

वहीं मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मुखर्जी ने भी विज्ञापन पर आपत्ति जताते हुए सब्यसाची को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था, उन्होने चेतावनी दी थी कि अगर वह इसे 24 घंटे में नहीं हटाएंगे तो उनके खिलाफ मामला दर्ज करके कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जिसके बाद उन्होने इस विज्ञापन को वापस ले लिया।

विज्ञापन को वापस लेते हुए रविवार को उन्होने कहा कि विज्ञापन से समाज के एक वर्ग को पहुंची पीड़ा पर उन्हें ‘‘गहरा दुख’’ है। सब्यसाची ने इंस्टाग्राम पर लिखा,‘‘धरोहर और संस्कृति पर सतत चर्चा की पृष्ठभूमि में मंगलसूत्र अभियान का मकसद समावेशिता और सशक्तीकरण पर बातचीत करना था। इस अभियान का मकसद उत्सव मनाना था और हमें इस बात का गहरा दुख है कि इससे हमारे समाज के एक वर्ग को कष्ट पहुंचा है। इसलिए हमने इस अभियान को वापस लेने का निर्णय लिया हैं।’’

विज्ञापन की वापस लेने पर नरोत्तम मिश्रा ने भी एक बयान जारी किया। उन्होने कहा है कि मेरे पोस्ट के बाद सब्यसाची मुखर्जी ने अपना आपत्तिजनक विज्ञापन वापस ले लिया है। अगर वह ऐसा दोबारा करते हैं तो सीधे कार्रवाई की जाएगी, उन्हें कोई चेतावनी नहीं दी जाएगी। उनसे और उनके जैसे लोगों से हमारी अपील है कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस न पहुंचाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *