भारतीय इलाके कालापानी में जनगणना कराने की तैयारी में नेपाल, सो रही मोदी सरकार?

भारत और नेपाल के बीच एक बार फिर से सीमा विवाद गहरा सकता है। दरअसल, नेपाल भारत के इलाके कालापानी में जनगणना कराने की तैयारी कर रहा है. जिससे दोनों देशों के सबंध तनावपूर्ण हो सकते है। इसके अलावा अन्य भारतीय इलाकों लिपुलेख और लिंपियाधुरा में भी जनगणना कराने की मांग हो रही है. बता दें कि नेपाल भारत के इन क्षेत्रों पर अपना दावा ठोकता है.

नेपाल 11 नवंबर को जनगणना  शुरू करेगा। जो 25 नवंबर को समाप्त होगी। दस साल में एक बार होने वाली इस जनगणना में नेपाली लोगो से जुडी जानकारी एकत्रित की जायेगी। ये जनगणना 10 साल में एक बार होती है।  इस जनगणना को लेकर भारत के साथ विवाद होने की आशंका है।

इस बारे में नेपाल के केंद्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के निदेशक नवीन लाल श्रेष्ठ ने कहा है कि इन तीनों इलाकों में जनगणना कराने को लेकर विदेश मंत्रालय ने भारत सरकार से निवेदन किया गया था। लेकिन भारत ने इसपर अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है।

उन्होंने कहा कि ऐसे में ब्यूरो जनगणना का काम सेटेलाइट के माध्यम से कराने पर विचार कर रहा है। इस तरह की जनगणना में सेटेलाइट कैमरों के जरिए जमीन पर बसे लोगों की संख्या गिनी जाएगी। भारतीय अधिकारियों से वार्ता किए बगैर श्रेष्ठ ने किसी कर्मचारी या अधिकारी को इलाके में जनगणना के लिए जाने से इनकार किया है।

बता दें कि इन क्षेत्रों में नेपाल की और से सड़क निर्माण को लेकर पहले भी तनाव हुआ था।  जिसके बाद नेपाल का झुकाव चीन की और हो गया था। काफी लम्बे समय बाद भारतीय अधिकारियों के दखल से ये विवाद शांत हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *