नीरज चोपड़ा लॉरियस अवॉर्ड के लिए नामित होने वाले तीसरे भारतीय बने

टोक्यो ओलंपिक में जेवलिन थ्रो का गोल्ड जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा को एक और बड़ी कामयाबी मिलने जा रही है। दरअसल 2022 लॉरियस वर्ल्ड ब्रेक थ्रू ऑफ द ईयर अवॉर्ड (Laureus World Breakthrough of the Year Award 2021) के लिए उन्हे नॉमिनेट किया गया है। नीरज चोपड़ा को 6 और खिलाड़ियों के साथ इस अवॉर्ड के लिए नॉमिनेशन मिला है।

लॉरियस अवॉर्ड को स्पोर्ट्स फील्ड में सबसे प्रतिष्ठित अवॉर्ड माना जाता है। लॉरियस वर्ल्ड ब्रेकथ्रू ऑफ द ईयर अवार्ड (2022) के लिए  नीरज के अलावा ब्रिटेन की युवा डेनियल मेदवेदेव और एम्मा रादुकानू के साथ शॉर्टलिस्ट किया गया है। दुनिया भर के 1300 खेल पत्रकारों की पैनल ने इन एथलीटों का चयन किया है। इसके बाद लॉरेस विश्व खेल अकादमी के 71 सदस्य विजेता के चयन के लिए मतदान करेंगे।

नीरज से पहले सिर्फ दो भारतीय खिलाड़ियों सचिन तेंदुलकर और रेसलर विनेश फोगाट को लॉरियस स्पोर्ट्स अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया था। सचिन ने लॉरियस स्पोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड 2000-2020 जीता था। वह मोमेंट 2011 के आईसीसी विश्व कप था, जब खिताब जीतने के बाद खिलाड़ियों ने उन्हें कंधे पर बिठाकर स्टेडियम का चक्कर लगाया था।

नीरज ने इस बारे में कहा, “ मैं इस लॉरियस पुरस्कार के लिए नामित होने पर खुश हूं और टोक्यो में मैंने जो हासिल किया है, उसके लिए व्यापक खेल जगत में पहचाना जाना मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है। ग्रामीण भारत के एक छोटे से गांव में जन्मे बच्चे, जो केवल फिट रहने के लिए खेल के क्षेत्र में आया और फिर ओलंपिक पोडियम के शीर्ष पर खड़ा होना, सच में अब तक काफी शानदार यात्रा रही है। मैं अपने देश का प्रतिनिधित्व करने और वैश्विक स्तर पर देश के लिए पदक जीतने में सक्षम होने के लिए सम्मानित महसूस करता हूं और अब लॉरियस से यह मान्यता प्राप्त करना और ऐसे असाधारण एथलीटों के साथ चुना जाना सच में बहुत अच्छा लग रहा है। ”

बता दें कि नीरज चोपड़ा ने साल 2021 में हुए टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा था। 23 साल की उम्र में  नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर के थ्रो के साथ स्वर्ण पदक जीता था। नीरज से पहले दिग्गज भारतीय निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने 2008 ओलंपिक में एयर राइफल में स्वर्ण हासिल किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *