एमपी: मुस्लिम परिवार पर 60 हिंदुत्व गुंडों ने हमला कर घर में की लुटपाट

मध्य प्रदेश के खरगोन शहर से आठ किलोमीटर दूर एक गाँव में मंगलवार को 60 से अधिक हिंदुत्व के गुंडों ने एक मुस्लिम परिवार के घर में घुसकर उन पर पथराव  किया। इस दौरान परिवार शाम इफ्तार की तैयारी कर रहा था। गुंडों ने पिछले दरवाजे से 22 वर्षीय अब्दुल मलिक के घर में घुसकर परिवार पर पथराव किया।

अब्दुल मलिक ने बताया, “जब हम इफ्तार के लिए बैठे, तो हमने अपने घर के बाहर 15 लोगों के एक समूह को जय श्री राम के नारे लगाते हुए सुना। जल्द ही और लोग उनके साथ जुड़ गए और भीड़ 60 से अधिक हो गई और वे सभी अपने हाथों में पत्थर लिए हुए थे। उन्होंने जल्द ही हमारे घर पर पथराव करना शुरू कर दिया।”

मलिक के घर में घुसे गुंडों ने आगे और पीछे के दरवाजे तोड़ दिए, उनके अंधे पिता और उनकी बूढ़ी माँ पर पथराव किया। उन्होने बताया, “गुंडों ने हमें उनके साथ जय श्री राम का नारा लगाने के लिए मजबूर किया। जब हमने बगावत की और उनसे हमारे साथ सुलह करने को कहा तो उन्होंने मेरी बहन के साथ रे’प करने की धमकी दी। मेरे चाचा बुरी तरह घायल हैं और उनके सिर पर 10 और आंख के नीचे चार टांके लगाए गए हैं।

मलिक, जिसकी पत्नी छह महीने की गर्भवती है, ने दावा किया है कि पथराव के कारण उसके सिर में चोट आई है। उसने यह भी कहा कि उसके पेट पर कई बार लात मारी गई। हालांकि, एक स्थानीय अस्पताल की मेडिकल रिपोर्ट में कहा गया है कि बच्चे को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

मलिक ने आंसू बहाते हुए कहा, “हमारे घर में तोड़फोड़ की गई और मेरी मां ने मेरी बहन की शादी के लिए जो पैसा बचाया था, वह भी लूट लिया गया।”

बता दें कि देश में मुसलमानों के खिलाफ अत्याचारों की संख्या में प्रतिदिन वृद्धि हो रही है, खासकर पिछले कुछ महीनों में। फरवरी से कर्नाटक से शुरू हुए मुस्लिम विरोधी घृणा अपराधों के कई मामले अब एमपी, बिहार और झारखंड सहित देश के विभिन्न हिस्सों में फैल गए हैं।

मप्र के खरगोन शहर में, रामनवमी की रैली के दौरान दंगे भड़क उठे, जिसके बाद मुसलमानों को हिंदुत्व के गुंडों के हाथों क्रूरता का शिकार होना पड़ा। इसके बाद उन मुसलमानों के घरों को तोड़ दिया गया जिन पर रैली के दौरान दंगा करने का आरोप लगाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *