4 साधुओं के साथ भीड़ हिंसा, लोग बोले- उद्धव की सरकार नहीं है वर्ना अर्णब 2 महीने चिल्लाता

महाराष्ट्र के सांगली में 4 साधुओं के साथ बेहरमी से मारपीट की गई. बच्चा चोरी के शक में साधुओं को भीड़ ने पकड़ा और मारपीट की. चारों साधु उत्तरप्रदेश के मथुरा के रहने वाले हैं और सभी बीजापुर से पंढरपुर दर्शन के लिए जा रहे थे.

साधुओं से पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है और बाकि लोगों की तलाश की जा रही है पंचदशनाम अखाड़े के साधु महामण्डलेश्वर गर्वगिरी महाराज के साथ तीर्थ यात्रा पर थे. साधुयों को प्राथमिक उपचार के बाद मथुरा रवाना कर दिया गया दरअसल पंढरपुर जाते हुए स्थानीय लोगों ने साधुओं की गाड़ी को रोका. स्थानीय लोग और साधु एक दूसरे की भाषा नहीं समझ पाए जिससे लोगों को शक हुआ कि ये लोग बच्चा चोर हैं.

बस फिर क्या था लोगों ने साधुओं को पकड़ा और उनके साथ मारपीट की. मौके पर पहुंची पुलिस ने साधुओं को लोगों से बचाया. इस घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए कांग्रेस ने बीजेपी और मीडिया पर निशाना साधा. कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने ट्विट करते हुए लिखा कि-

महाराष्ट्र में अब भाजपा सरकार है इसलिए मथुरा के साधुओं को बच्चा चोर समझकर पीटा जा सकता है ? कोई भाजपा वाला कोई अर्नब कोई सुधीर अब सरकार के खिलाफ़ डिबेट नहीं करेगा?

कॉमेडियन राजीव निगम ने लिखा- “अर्नब गोस्वामी छुट्टी पे है… क्योंकि अब उद्धव सरकार नहीं है. वर्ना दो महीने इसी पे चिल्लाता”

दरअसल महाराष्ट्र के पालघर में 16 अप्रैल 2020 को दो साधुओं और एक ड्राइवर की हत्या कर दी गई थी उस समय मीडिया और बीजेपी ने इस हत्याओं को लेकर महाराष्ट्र सरकार की जमकर आलोचना की थी और उन्हें हिंदु विरोधी तक बता दिया था. नेशनल मीडिया ने भी साधुओं की हत्या को लेकर उद्धव ठाकरे से लेकर सोनिया गांधी तक से सवाल किया था.

साभार: बोलता हिदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *