ननों पर हमले के मामले में पीयूष गोयल ने केरल सीएम पर लगाया झूठ बोलने का आरोप

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा कि हाल ही में उत्तर प्रदेश में ट्रेन यात्रा के दौरान दो ननों पर “कोई हमला नहीं हुआ।” इसके साथ ही उन्होंने केरल के मुख्य मंत्री पिनाराई विजयन पर इस मामले में झूठ बोलने का आरोप भी लगाया।

समाचार एजेंसी पीटीआई ने पीयूष गोयल के हवाले से लिखा कि “राज्य (केरल) के मुख्यमंत्री झूठ बोल रहे है। “किसी भी नन पर कोई हमला नहीं हुआ।” उन्होंने कहा कि पिनाराई विजयन गलत बयान दे रहे है।

बता दें कि दिल्ली से ओडिशा के राउरकेला की ट्रेन में यात्रा के दौरान कथित तौर पर उत्तर प्रदेश के झाँसी में ट्रेन में बजरंग दल और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने ज़बरदस्ती की थी। साथ ही इन लोगों को स्टेशन पर ही उतार लिया गया था।

झांसी में रेलवे पुलिस द्वारा पूछताछ के बाद दोनों नन को हिरासत में भी लिया गया था। हालाँकि पूछताछ के बाद अगली ट्रेन से राउरकेला के लिए रवाना कर दिया गया था।

केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने तब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की थी। अपने पत्र में, पिनारयी विजयन ने आरोप लगाया कि झांसी में बजरंग दल के सदस्यों और पुलिस द्वारा नन को परेशान किया गया था। इसके बाद अमित शाह ने पिनाराई विजयन के पत्र का जवाब दिया और कहा कि इस घटना में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पिनारयी विजयन ने यह भी कहा कि झांसी पुलिस द्वारा ननों को बिना किसी महिला कर्मियों की उपस्थिति के ट्रेन से जबरदस्ती उतारा गया।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए, पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा कि स्थानीय पुलिस ने, नन के खिलाफ शिकायत प्राप्त करने के बाद जांच की थी। यह पता लगाना पुलिस का कर्तव्य है कि शिकायत सही है या गलत।

पीयूष गोयल ने कहा कि उनके सभी दस्तावेजों की जांच की गई, यह सुनिश्चित करने के बाद कि वे वास्तविक यात्री हैं जो सही उद्देश्य के लिए जा रहे हैं और फिर तुरंत उन्हें जाने दिया जाएगा।

पीयूष गोयल ने उन आरोपों को भी खारिज कर दिया कि संघ परिवार संगठन से जुड़े कथित छात्र कार्यकर्ताओं ने ननों को ट्रेन से बाहर खींच लिया था। पीयूष गोयल ने कहा, “यह बिल्कुल गलत है।”

इससे पहले, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में केरल के ननों पर हमला संघ परिवार द्वारा चलाए जा रहे “दुष्प्रचार” का परिणाम था।

एक ट्वीट में, राहुल गांधी ने कहा, “केरल से यूपी में ननों पर हमला संघ परिवार द्वारा एक समुदाय को दूसरे के खिलाफ खड़ा करने और अल्पसंख्यकों को रौंदने के लिए चलाए गए दुष्प्रचार का परिणाम है।”

उन्होंने कहा कि यह राष्ट्र के लिए “आत्मनिरीक्षण करने और ऐसी विभाजनकारी ताकतों को हराने के लिए सुधारात्मक कदम उठाने का समय है”।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *