गुरुग्राम: हिन्दू शख्स के बाद सिखों ने जुमे की नमाज के लिए मुस्लिमों के लिए खोले गुरुद्वारें

हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा, जिसके तत्वावधान में पाँच गुरुद्वारे हैं, ने कहा है कि मुसलमान उस जगह का उपयोग नमाज़ अदा करने के लिए कर सकते हैं। आगे कहा गया है कि गुरुद्वारों के दरवाजे सभी समुदायों के लिए खुले हैं।

गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा के अध्यक्ष शेरदिल सिंह संधू ने कहा कि मुस्लिमों को जगह की कमी के कारण जुमे की नमाज अदा करने में परेशानी हो रही है, वे गुरुद्वारों में जगह का उपयोग कर सकते हैं।

सभा के उपाध्यक्ष जेपी सिंह ने कहा कि सिख समुदाय दूसरे समुदायों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहता है। उन्होंने कहा कि जो कोई भी पूजा-अर्चना करना चाहता है, उसके लिए गुरुद्वारा परिसर खुला है।

पांच गुरुद्वारों के परिसर में 2000 से अधिक लोगों को ठहराया जा सकता है। इस बीच, गुड़गांव के सदर बाजार गुरुद्वारा ने भी मुसलमानों को नमाज अदा करने के लिए जगह दी है।

हाल ही में एक शख्स अक्षय राव ने भी शुक्रवार की नमाज के लिए अपने घर की छत को नमाज के लिए खोल दिया था। उन्होंने कहा, “मैंने मुस्लिम समुदाय को जमीन की पेशकश की क्योंकि यह दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा उठाई गई आपत्तियों के बाद समस्याओं का सामना कर रहे थे।”

उल्लेखनीय है कि दक्षिणपंथी संगठनों ने जुमे की नमाज को बाधित करने की कोशिश की। गुरुग्राम के सेक्टर 12 इलाके में, दक्षिणपंथी संगठन पिछले कुछ हफ्तों से जुमे की नमाज को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं। 29 अक्टूबर को, संगठनों के कई सदस्यों को गिरफ्तार किया गया था।

2018 में, जिला प्रशासन ने मुसलमानों के लिए शुक्रवार की नमाज़ अदा करने के लिए शहर में 37 स्थलों को नामित किया, जिसके बाद हिंदू समूहों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। इससे पहले, समूह ने सेक्टर 47 में एक साइट पर भी नमाज में बाधा उत्पन्न की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *