हिजाब मुद्दे का बजरंग दल कार्यकर्ता की मौ’त से कोई लेना-देना नहीं: कर्नाटक के गृह मंत्री

शिवमोग्गा (कर्नाटक): सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील शहर में बजरंग दल के 23 वर्षीय पदाधिकारी की ‘हत्या के बाद कर्नाटक के शिवमोग्गा जिले में स्कूलों और कॉलेजों के लिए निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है और सोमवार को छुट्टी की घोषणा की गई है। हिं’सा की इस घटना के बाद पूरे राज्य में पुलिस महकमा हाई अलर्ट पर है। बड़े पैमाने पर हुई हिं’सा के डर से शिवमोग्गा शहर को पुलिस गढ़ में तब्दील कर दिया गया है।

हर्षा के रूप में पहचाने जाने वाले बजरंग दल के कार्यकर्ता की रविवार देर रात भारती कॉलोनी में रविवर्मा स्ट्रीट के पास बेरहमी से ह’त्या कर दी गई। हर्षा एक दर्जी थे और जिले में ‘प्रकंद सहकार्यदर्शी’ (समन्वयक) का पद संभालते थे। कार में आए बदमाशों ने उसका पीछा किया और घातक हथि’यारों से हम’ला कर दिया और मौके से फरार हो गए।

हालांकि हर्षा को मेगन अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसने दम तोड़ दिया। हर्षा बजरंग दल और विहिप की गतिविधियों में सक्रिय रूप से शामिल था। वह गणेश उत्सव और विसर्जन समारोह में सबसे आगे रहता था। घटना के तुरंत बाद तनावपूर्ण स्थिति बन गई। हर्षा ने कथित तौर पर दूसरे धर्म को गाली देते हुए एक पोस्ट डाला था और उसके खिलाफ डोड्डापेट थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। उसे धम’की भरे फोन आ रहे थे।

ह’त्या के बाद हजारों हिंदू कार्यकर्ता मेगन अस्पताल के पास जमा हो गए और पुलिस को स्थिति को संभालने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। जिले के सिगेहट्टी इलाके से प’थराव की घटनाओं की सूचना मिली थी, डीआईपी (पूर्व) त्यागराजन और पुलिस अधीक्षक (एसपी) लक्ष्मी प्रसाद स्थिति को नियंत्रित करने के लिए मौके पर पहुंचे।

जिले में किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचने के लिए अतिरिक्त बल को बुलाया गया है और पुलिस ने बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है। शिवमोग्गा के सिगेहट्टी में तीन बाइक और एक मालवाहक वाहन को आग के हवाले कर दिया गया। सोमवार सुबह पोस्टमा’र्टम के बाद श’व परिजनों को सौंप दिया जाएगा। कानून-व्यवस्था और शांति बनाए रखने के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं।

गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने सोमवार को कहा, ’23 वर्षीय युवक की बेरहमी से ह’त्या की गई है। मैं शिवमोग्गा गया और मैं उनके परिवार से भी मिला हूं। मैंने उसके माता-पिता और बहन को आश्वासन दिया है कि मैं मृ’त व्यक्ति को वापस नहीं ला सकता लेकिन ह’त्यारों को नहीं छोड़ूंगा। उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाएगी।”

उन्होने आगे कहा, “हिजाब मुद्दे का इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है और यह अलग-अलग कारणों से हुआ है। शिवमोग्गा एक संवेदनशील शहर है। घटना मुख्य सड़क पर हुई है और पुलिस हाई अलर्ट पर है। हमारे पास सुराग हैं, जल्द ही उन्हें गि’रफ्तार कर लिया जाएगा। मैं लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। सभी उपाय किए गए हैं, लोगों को भड़काना नहीं चाहिए। मृ’त व्यक्ति को सरकार न्याय देगी। हत्यारों को पकड़ने के लिए विशेष टीमों का गठन किया गया है, जल्द ही हम इस पर अपडेट देंगे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *