हिजाब बैन के खिलाफ प्रदर्शन करने वाली छात्रा डर में, सोशल मीडिया पर लीक हुई व्यक्तिग्त जानकारी

उडुपी के गवर्नमेंट प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज फॉर गर्ल्स की कई मुस्लिम छात्राओं के फोन नंबर, पते, माता-पिता के संपर्क, कथित रूप से कॉलेज द्वारा लीक किए जाने के बाद, अज्ञात व्यक्तियों की और से धमकी भरे कॉल आ रहे हैं।

द क्विंट की रिपोर्ट के अनुसार, कॉलेज और राज्य द्वारा संस्थान के परिसर में हिजाब पर प्रतिबंध लगाने के लिए विरोध का सामना करने वाली लड़कियां डर में हैं, क्योंकि केवल कॉलेज को जमा किए गए उनके व्यक्तिगत विवरण की एक पीडीएफ व्हाट्सएप पर लीक हो गई।

लीक व्हाट्सएप संदेश एक पीडीएफ दस्तावेज है। जिसमे कॉलेज के रेकॉर्ड से प्रवेश फॉर्म की स्कैन की गई प्रतियां है, जो इस तथ्य को इंगित करती है कि दस्तवेज कॉलेज के भीतर से ही लीक हुए। लीक हुए ऑनलाइन मैसेज में लड़कियों की पहचान उनके नाम और तस्वीरों से की गई।

उडुपी के भारतीय जनता पार्टी के विधायक, रघुपति भट, जो कॉलेज की विकास समिति (सीडीसी) के अध्यक्ष हैं, दिसंबर 2021 से जोर दे रहे हैं कि हिजाब में मुस्लिम छात्रों को कक्षाओं के अंदर जाने की अनुमति नहीं है।

छात्रों ने भाजपा विधायक पर सांप्रदायिक नफरत फैलाने और भगवाधारी प्रदर्शनकारियों को समर्थन देकर खुली छूट देने का आरोप लगाया है। क्विंट की रिपोर्ट के अनुसार, 17 वर्षीय हिजाबी प्रदर्शनकारी, आलिया असादी ने महसूस किया कि बुधवार को उसका नंबर घंटों के भीतर लीक हो गया और उसे दिन भर फोन आते रहे।

छह छात्रों में से एक, आलिया असदी ने द क्विंट को बताया कि उसे बुधवार से अपमानजनक फोन कॉल आ रहे थे, और बाद में पता चला कि उसके फोन नंबर, माता-पिता के नाम और पते सहित उसके संपर्क विवरण व्हाट्सएप पर साझा किए गए। जब द क्विंट ने कॉलेज के अधिकारियों से संपर्क किया, तो उन्होंने लीक हुए डेटा पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *