स्कूल फीस कम करने की मांग पर बोले मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री – ‘नेतागिरी मत करो, मर’ना है तो म’र जाओ’

लॉकडाउन से पहले लोगों के रोजगार खत्म हो गए। वहीं बढ़ती महंगाई ने भी लोगो का जीना मुहाल किया हुआ है। वहीं निजी स्कूलों की भी मनमानी जारी है। ऑनलाइन क्लास के नाम पर स्कूलों द्वारा मनमानी फीस वसूली जा रही है। ऐसे में जब अभिभावक शिक्षा मंत्री से मिलने पहुंचे तो उन्होने यह कहकर चलता बना कर दिया कि मर’ना है तो म’र जाएं, जो करना है करो।

जानकारी के अनुसार फीस कम करने की मांग लेकर  पालक संघ का दल मंगलवार को मध्य प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार से मिलने पहुंचा था।  इस दौरान मंत्री ने न मांग को सुनना तो दूर बल्कि उनके साथ अभद्रता पर उतर आए और कहा कि म’रना है तो म’र जाइए, जो करना है कीजिए।

वहीं शिक्षा मंत्री के सुरक्षा कर्मियों ने भी पालक संघ के दल के साथ धक्का-मुक्की की। इस बयान के बाद अब  अभिभावक संघ उनके इस्तीफ़े की मांग कर रहा है। अभिभावक संघ ने मंत्री पर मानहानि का केस करने की भी बात कही। शिक्षा मंत्री के इस बयान की लोग जमकर आलोचना हो रही है।

शिक्षा मंत्री के इस बयान को लेकर कांग्रेस भड़क उठी है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा है कि ये है मध्यप्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार….? कोरोना काल में स्कूली फ़ीस में राहत की माँग को लेकर मिलने आए पालक संघ से कह रहे है कि ‘जो करना हो, कर लो, जाओ जाकर मर जाओ ‘…? अपने सुरक्षा गार्ड से उन्हें धक्के भी दिलवाए..? ऐसे मंत्री को तत्काल पद से हटाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *