अब्बाजान पर सीएम योगी से बोले गौरव वल्लभ – कोरोना से लोग म’र रहे थे तब कहां थे ‘भाई जान’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के रविवार को कुशीनगर में  ‘अब्बा जान’ वाले दिये बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। उनके इस बयान की तीखी आलोचना हो रही है। अब कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने भी सीएम योगी को जवाब देते हुए पूछा कि जब लोग कोरोना से म’र रहे थे लोग तब कहां थे ‘भाई जान’?

उन्होने कहा, कोरोना के दौरान हमने देखा है कि कैसे गंगा मां में लोगों की ला’शें बहती दिखाई दी और उस समय उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं था। उन्होंने कहा कि योगी ने 2017 के पहले की बात कही लेकिन 200 साल पहले भी ऐसा कभी नहीं हुआ कि गंगा में सैकड़ों ला’शें बहती दिखीं हो।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, योगी साहब आप कौन से जान हैं? आप कौन से ‘अब्बा जान’ और कौन से ‘भाई जान’ हैं? कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव बल्लभ ने कहा कि जिस सरकार में हाथरस जैसी घटना हो जाए, सरकार को एक सेकंड भी शासन में रहने का हक नहीं है। गौरव वल्लभ ने ये भी कहा कि मुख्यमंत्री को कोलकाता और लखनऊ के बीच का अंतर भी नहीं पता है, ऐसे में उन्हें सीरियसली नहीं लिया जाना चाहिए। बीजेपी चुनाव से पहले अब्बाजान, कब्रिस्तान जैसा मसला उठाती है लेकिन हर बार ये काम नहीं करेगा।

उन्होने सवाल उठाते हुए कहा, ‘हमने महात्मा गांधी, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, बेअंत सिंह, विद्याचरण शुक्ल को आतं’कवाद के कारण खोया। नाथूराम गोडसे देश का पहला आ’तंकवादी था। लेकिन योगी बताएं कि मसूद अजहर को किसने छोड़ा था? आसिया अंद्राबी को पोस्टर गर्ल किसने बनाया?’

गौरव वल्लभ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से भी तालिबान के मुद्दे पर जवाब मांगा। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री बताएं कि तालिबान के साथ क्या समझौता है? ब्रिक्स में पुतिन ने तालिबान के मुद्दा उठाया लेकिन प्रधानमंत्री मौन बैठे थे।’ गौरव वल्लभ ने पेगासस मुद्दे पर कहा कि प्रधानमंत्री जी औसतन 14 ट्वीट करते हैं तो क्या नहीं बता सकते थे की पेगासस का इस्तेमाल सरकार ने किया की नहीं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *