आदिवासियों और मीणा समुदाय को अपशब्द कहने पर सुरेश चव्हाणके के खिलाफ हुई एफ़आईआर

हिन्दू-मुस्लिम कर न्यूज़ चैनल एक नाम पर अपनी सांप्रदायिकता की दुकान चलाने वाले सुदर्शन न्यूज़ के मालिक सुरेश चव्हाणके के खिलाफ आदिवासियों और मीणा समुदाय को अपशब्द कहने पर राजस्थान पुलि’स ने एफ़आईआर दर्ज की है। राजस्थान आदिवासी मीना सेवा संघ के सदस्य गिरराज मीणा की शिकायत के आधार पर ये एफ़आईआर दर्ज की गई।

दरअसल, एक शो के दौरान सुदर्शन के संपादक सुरेश चह्वाणके ने एक कॉलर के सवाल पर मीणा समाज को लेकर अपशब्दों का इस्तेमाल किया। जिसका चैनल पर प्रसारण भी किया गया। उनके शो की क्लिप सोशल मीडिया पर जैसे ही वायरल हुई। मीणा समुदाय के लोग भड़क उठे। उन्होने ट्विटर पर सुरेश चव्हाणके की गिर’फ्तारी की मांग को लेकर हेशटेग #ArrestSureshChavhanke ट्रेंड करा दिया।

जिसके बाद राजस्थान आदिवासी मीना सेवा संघ के सदस्य गिरिराज मीणा द्वारा जयपुर के ट्रांसपोर्ट नगर थाने में दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज की गई। मीना की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी में कहा गया है, ’23 जुलाई की शाम सुदर्शन टीवी के सुरेश चव्हाणके ने मुझे और हमारे पूरे आदिवासी समुदाय को अपनी मर्जी से गाली दी और यह कई दिनों तक चला।

प्राथमिकी में कहा गया है कि चव्हाणके और अन्य एक साजिश के तहत धार्मिक उ’न्माद फैलाना चाहते हैं और सांप्र’दायिक सद्भाव को बाधित करने के लिए अराजकता और दं’गे फैलाना चाहते हैं। आईटी अधिनियम की धारा 67 के साथ आईपीसी की धारा 295 और 504 सहित एससी/एसटी (अत्या’चार निवारण) अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

एसीपी आदर्श नगर नील कमल ने कहा, “मामले में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है और चव्हाणके आरोपी है।” बता दें कि 21 जुलाई को भगवा झंडा उतारे जाने के बाद से अमागढ़ किला मीणा समुदाय और हिंदू समूहों के बीच विवाद का केंद्र बन गया है। हिंदू संगठनों ने मीना समुदाय पर भगवा ध्वज को फाड़ने का आरोप लगाया, जबकि बाद में उन पर आरोप लगाया कि वे इसे हटाने की कोशिश कर रहे हैं।

वहीं निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा हिंदू संगठनों पर आदिवासी संस्कृति को हथियाने की कोशिश करने का आरोप लगाते रहे हैं। भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा जैसे नेताओं ने इस मुद्दे पर रामकेश की आलोचना की है और कहा है कि मीणा हिंदू समुदाय से भी संबंधित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *