पुडुचेरी में अमित शाह को दिखाए गए काले झंडे, 120 हिरासत में

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह क्रांतिकारी से दार्शनिक और संत अरबिंदो की 150वीं जयंती समारोह में भाग लेने के लिए पुडुचेरी के एक दिवसीय दौरे पर हैं।

अमित शाह अपनी यात्रा समाप्त करने से पहले स्मार्ट सिटी पहल के तहत परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे और केंद्र शासित प्रदेश में भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

हालांकि, शाह की रविवार की पुडुचेरी यात्रा की शुरुआत तूफानी रही क्योंकि थंथई पेरियार द्रविड़ कड़गम (टीपीडीके) ने उन्हे काले झंडे दिखाये। कामराजार सलाई में जमा हुए 200 से अधिक टीपीडीके कार्यकर्ताओं ने काले झंडे लहराए और गृह मंत्री के दौरे के विरोध में नारेबाजी की।

प्रदर्शनकारियों के पुतले जलाने पर पुलिस को बीच-बचाव करना पड़ा, जिससे हाथापाई हुई। लगभग 120 टीपीडीके कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। इस बीच, कांग्रेस, सीपीआईएम, सीपीआई, सीपीआईएमएल और वीसीके ने साराम में गृह मंत्री अमित शाह की यात्रा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने भाजपा के दिग्गज नेता के खिलाफ नारेबाजी की और दावा किया कि वह तमिल को हटाने के लिए हिंदी थोप रहे हैं।

पुडुचेरी के पूर्व मुख्यमंत्री नारायणसामी, जो प्रदर्शन में शामिल हुए, ने कहा कि वे विरोध कर रहे थे क्योंकि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह द्वारा यूटी की अनदेखी की गई थी।

“एक साल हो गया है और अब तक, पीएम मोदी या गृह मंत्री अमित शाह द्वारा दिए गए एक भी चुनावी वादे को पूरा नहीं किया गया है। कल्याणकारी योजनाओं को दरकिनार कर दिया गया है और इसलिए हम यहां विरोध कर रहे हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *