वरुण गांधी ने यूपी के सीएम योगी को लिखा पत्र – किसानों को बातचीत में किया जाए शामिल

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर राज्य के किसानों की मांगों को लेकर एक पत्र लिखा। पीलीभीत के सांसद ने तर्क दिया कि मुजफ्फरनगर में महापंचायत करने वाले आंदोलनकारी किसानों को बातचीत में शामिल किया जाना चाहिए।

गांधी ने पत्र में यह भी मांग की है कि किसानों को प्रति वर्ष 6,000 रुपये की पीएम किसान निधि की किस्त दोगुनी की जाए। गांधी ने कहा है कि राज्य में गन्ना उत्पादकों की मांगों के अनुरूप गन्ने का राज्य सहायता मूल्य (एसएपी) बढ़ाकर 400 रुपये प्रति क्विंटल किया जाना चाहिए।

उन्होंने यह भी मांग की है कि बटाईदारों द्वारा भी गन्ने की खरीद के लिए एक तंत्र होना चाहिए। धान और गेहूं की खरीद पर 200 रुपये प्रति क्विंटल बोनस की मांग करते हुए गांधी ने यह भी कहा कि यूपी में किसानों की सभी उपज की खरीद की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने पत्र में इस बात पर भी जोर दिया है कि किसानों को राज्य के ग्रामीण हिस्सों में बिजली की बढ़ी हुई लागत का तनाव झेलना पड़ रहा है, जिसे प्राथमिकता के आधार पर कम किया जाना चाहिए। गांधी ने आवारा मवेशियों के मुद्दे को भी हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि फसलों को नुकसान हुआ है जिसके लिए राज्य को इस मुद्दे पर ध्यान देने की जरूरत है।

वरुण गांधी ने किसानों को डीजल के मूल्य पर कम से कम 20 रुपये की सब्सिडी देने की मांग की है। अपने पत्र में ये भी कहा है कि पिछले दिनों उनके संसदीय क्षेत्र के किसानों का प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला था और अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *