अमिताभ बच्चन के बाद अब ऐश्वर्या राय का 2016 के ‘पनामा पेपर्स’ में नाम, ईडी ने किया तलब

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन से आज दिल्ली में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) घंटों पूछताछ की। ऐश्वर्या राय से ये पूछताछ विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के प्रावधानों के तहत की गई। इस दौरान उनसे घंटों कड़ी पूछताछ चली।

जानकारी के अनुसार, ED ने पनामा पेपर लीक मामले में एश्वर्या राय को सम्मन जारी करते हुए उन्हें आज दिल्ली मुख्यालय में पेश होने का निर्देश दिया था। ऐश्वर्या राय को इससे पहले भी इस मामले में दो बार बुलाया गया था, लेकिन दोनों बार उन्होंने नोटिस को स्थगित करने की गुजारिश की थी।

पूछताछ के दौरान ईडी के अधिकारियों ने ऐश्वर्या राय से वर्जिन आइलैंड स्थित, एमिक पार्टनर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को लेकर सवाल किए। जिसमे उनसे कंपनी के स्वामित्व, हिस्सेदार आदि की जानकारी मांगी गई। बता दें कि पनामा पेपर लीक मामले में एश्वर्या राय के ससुर अमिताभ बच्चन का भी नाम सामने आ चुका है।

3 अप्रैल 2016 को टैक्स हेवेन कहे जाने वाले देश पनामा की एक लॉ फर्म मोसेक फोंसेका का 40 साल का डाटा लीक हुआ था। जिसमे पनामा पेपर्स मामले में भारत के करीब 500 लोगों के शामिल होने का दावा किया गया था। इनमें देश के कई नेता, अभिनेता, बिजनेसमैन के नाम थे।

वहीं अमिताभ बच्चन पर आरोप लगा था कि उन्होने चार शेल कंपनी बनाई। यह चारों शिपिंग कंपनियां थी। इसमें अभिषेक बच्चन डायरेक्टर थे। वहीं साल 2005 में  एक कंपनी में ऐश्वर्या राय बच्चन को भी डायरेक्टर बनाया गया था। ऐश्वर्या के माता, पिता और भाई को भी इस कंपनी का डायरेक्टर बनाया गया था।

हालांकि ऐश्वर्या बाद के सालों में इस कंपनी की शेयर होल्डर बन गई। साल 2008 में यह कंपनी बंद कर दी गई। इस मामले में ईडी अभिषेक बच्चन से भी पूछताछ कर चुकी है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में बताया था कि पनामा पेपर लीक मामले में भारत से संबंधित लोगों के संबंध में कुल 20,078 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति का पता चला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *