दीपक चौरसिया पर भड़के अभिसार शर्मा – “चरसिया….” पत्रकारिता का ‘दीपक’ तो बहुत पहले बुझ गया 

हमेशा अपने बयानों और ट्वीट को लेकर विवादों में रहने वाले टीवी एंकर दीपक चौरसिया अब एक नए विवाद में फंस गए है। दरअसल दीपक चौरसिया पर नशे की हालत में एकरिंग करने का आरोप लगा है। वह भी जब वे जनरल बिपिन रावत की दुखद मौ’त पर एक कार्यक्रम प्रसारित करने के लिए लाइव गए थे। ऐसे में उन्हे भारी ट्रोलिंग का सामना करना पड़ रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे विडियो में उनकी  आवाज़ लड़खड़ाती हुई देखी जा सकती है। वो अपने वाक्यों को भी पूरा नहीं कर पा रहे। इस दौरान उन्होने दिवंगत आर्मी जनरल को एक पत्रकार के रूप संबोधित कर डाला। पहली नजर में साफ़ दिख रहा है। दीपक चौरसिया का उनके शरीर पर कोई नियंत्रण नहीं है। भाजपा के पक्ष में प्रचार करने के लिए हमेशा आगे रहने वाले चौरसिया की अब चौतरफा आलोचना हो रही है।

पत्रकार अभिसार शर्मा ने लिखा कि “चरसिया….” क्योंकि पत्रकारिता का ‘दीपक’ तो बहुत पहले बुझ गया है ।

विनोद कापड़ी लिखते है कि फ़र्ज़ी राष्ट्रवाद का नशा जब नसों में दौड़ता है तो ज़ुबान ऐसे ही लड़खड़ाती है और असली चेहरा बेनक़ाब होता है। टेलीविजन में LIVE ये हरकत तो अस्वीकार्य है ही , पर जब भारतीय सशस्त्र सेनाओं के 13 जाँबाज़ों को श्रद्धांजलि दी जा रही हो -तब ये हरकत अक्षम्य अपराध है।

वहीं पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा लिखती है कि “बताइये इस तरह के लोग हमारे पेशे के सीनियर हैं..मुझे गर्व है कि मैं ऐसे चैनलों में नौकरी नहीं करती… नशा चाहे सत्ता का हो या दारू का हो बर्बाद कर देता है लाइव शो से बाहर करवा देता है…”

इसके अलावा औम थानवी ने लिखा कि इस हालत में चंद्रमार्गी ऐंकर को कैमरे के सामने बैठने किसने दिया?

पीसी शर्मा ने ट्वीट किया – कैसे मंज़र सामने आने लगे हैं , पीते – पीते लोग खबरें चलाने लगे हैं… अब तो इस तालाब का पानी बदल दो , ये पत्रकारिता के फूल कुम्हलाने लगे हैं… 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *